Sahara India Latest News : सहारा इंडिया के निवेशकों को आ रहे मैसेज का मतलब आखिर क्या है, जाने कैसे मिलेगा सहारा का पैसा

Sahara India Latest News : सहारा इंडिया के निवेशकों को आ रहे मैसेज का मतलब आखिर क्या है, जाने कैसे मिलेगा सहारा का पैसा

Sahara India Payment News : सहारा इंडिया परिवार की सहकारी समितयों में अपना पैसा लगाकर बैठे सहारा ग्रुप के उपभोक्ताओं को कई परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है एकाएक तो निवेशकों को उनका पैसा एक लंबे समय के इंतजार के बाद अब नसीब होने को आया है वही उसमे भी समस्या उत्पन्न हो रही है आपको बता दे की यह समस्या सहारा इंडिया रिफंड पोर्टल को लेकर आ रही है जिसमे मुख्य रूप से सहारा इंडिया परिवार निवेशकों के डेटाबेस को पूर्ण रूप से खारिज कर रहा है वही निवेशकों द्वारा दी गई सही जानकारी को भी सहारा इंडिया गलत बता रहा है। 



सीआरसी में लगतार शिकायत कर रहे सहारा जमाकर्ता 

सहारा निवेशकों से अभी तक की जो सबसे बड़ी गलती हुई है वह सहारा में उनका पैसा जमा कर अपने पैसे को भूल जाना हैं वही निवेशकों के भुगतान पर सहारा की नियत कभी भी सही नहीं रही है वही निरंतर सहारा सेबी केस के बाद से ही सहारा ने निवेशकों को उनके पैसे लौटाने के लिए काफी ज्यादा तंग किया है वही निवेशक अपना मूल धन भी बापस मांग रहे है तो वो भी कंपनी नहीं लौटा रही है वही कई उपभोक्ता अदालतों और हाई कोर्ट के आदेशों के बाबजूद भी सहारा ने पैसे निवेशकों को आज तक नहीं दिए है वही यह दर्शाता है की सहारा की नियत में ही खोट है। 



सुब्रत रॉय के मुँह पर सरकार की चुप्पी 

एक विशेष समय में स्वतंत्र राष्ट्र यानी भारत के बारे में बात करने वाला व्यक्ति अब बिलकुल चुप है, हां, हम पूरे सहारा समूह के चैयरमेन के बारे में बात कर रहे हैं, जो कि श्री सुब्रत रॉय सहारा हैं, जो सहारा इंडिया क्रेडिट सहकारी समितियों के रिफंड के मामले में चुप हो गए हैं। मीडिया में खबरें आ रही हैं कि सुब्रत ने सहारा समूह के रिफंड पर अब तक कोई बयान पारित नहीं किया है, साथ ही 2023 तक सहारा द्वारा लाई गई सभी योजनाएं विफल हो गई हैं और प्रबंधन के साथ-साथ सहारा एजेंटों की सभी उम्मीदें विफल हो गई हैं वही अब सहारा इंडिया की परिस्थिति भी पहले जैसी नहीं रही है।


Sahara India Refund Claim Reject Reason

सहारा इंडिया के रिफंड पोर्टल के जरिए जिन भी निवेशकों ने अपने आवेदन किए थे उनके आवेदन सहारा इंडिया क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी, सहारायण यूनिवर्सल मल्टीपरपज सोसायटी, स्टार मल्टीपर्पस  क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी और हमारा इंडिया क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी द्वारा रिजेक्ट कर दिए जा रहे हैं जिसका मुख्य कारण सहारा इंडिया परिवार के पास निवेशकों का पर्याप्त डाटा उपलब्ध नहीं होना है वही सहारा इंडिया के डेटाबेस में उन निवेशकों का डाटा ही मौजूद नहीं है जिसके कारण निवेशकों का अब लगभग पैसा मिलना मुश्किल दिखाई दे रहा है वहीं उन निवेशकों को बेहतर भविष्य और उज्जवल भविष्य का सपना दिखाने वाले अमित शाह भी अपने चुनावी मसले में ब्यस्त हो चुके हैं और अब वह भी इस मामले पर चुप्पी साधे हुए हैं। 




Breaking News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *