Sahara India Latest News : अब ऐसे मिलेगा सहारा इंडिया का भुगतान, जानिये क्या बोल रहा सहारा मैनेजमेंट

 

Sahara India Latest News : सहारा इंडिया में फसे अपने पैसे की चिंता कर रहे सहारा इंडिया के वास्तविक जमाकर्ताओं को उनकी धनराशि बापस करने में कई साड़ी समस्या आ रही है जिसमे मुख्य रूप से सहारा निवेशकों का क्लेम न मंजूर होना है। आपको बता दे की सहारा में देश के कई गरीबो लोगो की पूंजी जमा है जिसको लेकर केंद्र सरकार द्वारा लाया गया सहारा सीआरसीएस रिफंड पोर्टल भी नाकामयाब साबित हो रहा है वही सहारा रिफंड पोर्टल पर भी निवेशकों को काफी दिक्कते आई है। तो चलिए अब आपको बता देते है की इस मामले पर सहारा इंडिया के मैनेजमेंट का क्या कहना है वही इस मामले पर एजेंटो हेतु क्या सन्देश है। 

Read More : अब ऐसे होगा सहारा भुगतान क्लेम का सत्यापन, सरकार ने बताया तरीका  



सहारा इंडिया निवेशकों के साथ खड़ा है 

जब हमारी टीम के मीडियाकर्मियों ने सहारा इंडिया परिवार के एक वरिष्ठ प्रबंधक से उन सच्चे निवेशकों के मैच्योरिटी रिफंड के बारे में बात की, जिनका पैसा लंबे समय से अटका हुआ है, तो कंपनी के प्रबंधन ने कहा कि सम्मान के साथ सहारा की बड़ी जिम्मेदारी है कि वह पैसा लौटाए लेकिन सहकारिता मंत्रालय प्रबंधन के साथ काम करने को तैयार नहीं है और साथ ही कंपनी को धन वापसी का अधिकार दिया जाना चाहिए, लेकिन हमें नहीं पता कि सभी वैध सबूत जमा करने के बाद भी निवेशकों के दावों को खारिज क्यों किया जा रहा है।

[Note : यह सभी बातो में हमारी टीम ने सहारा के ऑफिसियल का नाम छिपा कर रखा है क्योकि ब्यक्ति की गोपनियता को सम्मान देना हमारा कर्त्तव्य पालन है]


हमारे मीडिया कर्मी ने कहा  “अगर आपकी कंपनी इतनी ही बचनवादिता वाली है तो क्यों सहारा इंडिया क्रेडिट कोआपरेटिव सोसाइटी ने खुद निवेशकों को भुगतान नहीं दिया, या तो कंपनी निवेशकों को उच्चे सपने और लंबे सफर नहीं दिखती और अगर दिखाए भी थे तो क्यों सहारा ग्रुप के चैयरमेन श्री सुब्रतो रॉय इस मामले पर चुप्पी साधे हुए है” 

तो इस बात का उत्तर देते हुए मैनेजमेंट के अधिकारी ने बताया की सुब्रत रॉय सहारा पिछले  कुछ सालो से खुद इस मामले को लेकर काफी ज्यादा चिंतित है जिसके कारण कंपनी खुद नै स्कीम लेकर नहीं आई है क्योकि सहारा सेबी केस ने लगभग कंपनी की कमर तोड़ कर रख दी है जिसको पटरी पर लाने के लिए हमारे साथी एजेंट एवं फील्ड वर्कर्स ने काफी ज्यादा संघर्ष किया था परंतू देश की अर्थब्यवस्था ने कंपनी को फिर से पटरी पर नहीं आने दिया। 






सहारा निवेशकों हेतु मैनेजमेंट का ख़ास सन्देश 

सहारा इंडिया क्रेडिट कोआपरेटिव सोसाइटी समेत तीनो अलग अलग सोसाइटी के जितने भी निवेशकों के डॉक्यूमेंट खारिज हुए है वह दोबारा सहारा रिफंड पोर्टल पर अपना आवेदन कराए जिसका बिकल्प सहारा रिफंड पोर्टल के deficency वाले मैसेज के आने के 30 दिन बाद शुरू होगा इसलिए सहारा मैनेजमेंट यह सभी निवेशकों से अपील करता है की सभी निवेशक कृपया पोर्टल पर लॉगिन करके अपना स्टेटस जरूर चेक करते रहे। 


Breaking News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *