Sahara India : सहारा इंडिया के भुगतान पर बिधानसभा घेरने की तैयारी

 

Sahara India
सहारा इंडिया भुगतान मामले में संघर्ष नया मोर्चा की बैठक हुई संपन्न

Sahara India News : सहारा इंडिया परिवार मैं फसे मध्य प्रदेश के करीब एक करोड़ से ज्यादा निवेशकों के पैसे बापस मिलने का नाम नहीं ले रहा है एक तरफ सहारा लगातार समय मांग रही है वहीं दूसरी तरफ निवेशकों द्वारा जो एफआईआर मध्यप्रदेश के अधीन सहारा प्रमुख सुब्रता रॉय समेत प्रबंधन पर दर्ज हैं। उन पर प्रदेश सरकार कोई भी कार्रवाई करने में कतरा रही है जिस पर अब ऑल इंडिया संघर्ष न्याय मोर्चा ने आज भोपाल में बैठक में करी है। बैठक के माध्यम से ऑल इंडिया संघर्ष मोर्चा ने आगामी चुनावों को लेकर भी सरकार को घेरने की तैयारी कर की है। 


मध्यप्रदेश बिधानसभा घेरने की तैयारी 

भोपाल में विधानसभाबिश्राम गृह में हुई इस बैठक में करीब 500 लोग मौजूद थे वहीं करीब 52 जिलों के प्रतिनिधिमंडल इस बैठक में पहुंचे थे। जानकारी के अनुसार बैठक में फैसला लेते हुए आगामी मार्च महीने में विगत इजाजत लेकर विधानसभा घेरने की तैयारियां की जा रही है। आपको बता दें कि सहारा इंडिया की क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसाइटी समेत सहारा क्यू शॉप में निवेशकों ने अपनी रकम जमा की थी। वही भुगतान अवधि पूर्ण होने के बाद पैसा लौटाने की बात सहारा द्वारा कही गई थी परंतु अभी तक सहारा ने परिपक्ता राशि पूर्ण होने के बाद भी निवेशकों को उनका पैसा वापस नहीं किया है जिस पर अब निवेशक नाराज है। 

14 मार्च को बिधानसभा घेरो आंदोलन 

ऑल इंडिया संघर्ष मोर्चा के संगठन प्रभारी सतीश चतुर्वेदी द्वारा बताया गया कि सहारा में निवेशकों की गाढ़ी कमाई फंसा है जिसको सहारा लूट कर बैठी है और वापस करने का नाम नहीं ले रही है वहीं अब ऐसी स्थिति में ऑल इंडिया संघर्ष न्याय मोर्चा के बैनर तले आने वाली 14 मार्च को पूरे जोरों शोरों के साथ विधानसभा घेरने की तैयारियां संगठन द्वारा की जा रही है वहीं निवेशकों की आवाज को सरकार के सामने रखने का प्रयास किया जा रहा है। 

यह लोग रहे मौजूद

ऑल इंडिया संघर्ष नया मोर्चा द्वारा आयोजित इस बैठक में संगठन के महासचिव नीरज शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह सोलंकी, संगठन प्रभारी सतीश चतुर्वेदी, सपाक्स पार्टी के अध्यक्ष सुरेश शुक्ला समेत अन्य लोग मौजूद थे। 

Breaking News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *