pacl money refund status 2022 : क्या जुलाई से मिलना शुरू होगा पर्ल में फसा निवेशकों का पैसा

न्यूज़ रिपोर्ट ,नई दिल्ली :- पल्स में फसा निवेशकों का पैसा कब मिलेगा ? क्या सेबी निवेशकों के ओर्जिनल बांड्स को खो तो नहीं देगी वही सेबी से कितना पैसा मिलना है यह सभी बाते आपको इस पोस्ट में देखने के लिए मिलेंगी वही आप सभी पाठको पाठको से अनुरोध है की कृपया इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा शेयर कीजिये क्योकि कई लोगो के मन में सेबी और पर्ल  भुगतान को लेकर कई नई -नई रोचक खबरे निकलकर आ रही थी जिसका उत्तर उन्हें नहीं मिल रहा था जिसके बाद अब इस पोस्ट के माध्यम से सभी चीजों को बारीकी से समझ सकेंगे। 

पर्ल्स में फसे निवेशकों के पैसे को लेकर कई लोगो के मन में सेबी को लेकर कई सारे सवाल भी आ रहे थे जिसमे से सबसे बड़ा जो कारण न्यूज़ दुनिया की मीडिया टीम द्वारा देखा गया वह यह था की कही सेबी हामरे ओरिजिनल बांड्स तो माँगा रहा है परन्तु ओरिजिनल बांड्स भेजने के बाद कही सेबी उसे कही खो न दे जिसके कारण बड़ी मुश्किलों के बाद मिलने मिलने वाला पैसा फिर हाथ से निकल जाये। इस सवाल पर हम आपको बताना चाहेंगे की सेबी जो की भारतीय प्रतिभूति एवं बिनमीय बोर्ड सरकार के अंतर्गत आती है वही सेबी की जिम्मेदारी भी सरकार की जिम्मेदारी है। अगर आप आपके ओरिजिनल बांड्स आप सेबी में जमा करते है तो कोई भी परेशानी नहीं आएगी  नहीं करते है तो आपको भुगतान मिलना असंभव है।  

कई लोगो ने आज तक जमा नहीं कराये ओरिजिनल बांड्स 

सेबी कहीं निवेशकों के ओरिजिनल बॉन्ड ना खो दे इसी वजह से कई लोगों ने अपनी ओरिजिनल  के पास बांड सेबी में नहीं भेजे वहीं कई लोगों का यह कहना था की हमारे साथ कोई धोखाधड़ी ना हो जाए इसके साथ ही यूट्यूब पर भी लोगों ने कई झूठी अफवाह भी फैलाई जिसके कारण पीएसीएल का निवेशक डरा हुआ है वही उसको डर है कि बड़ी मुश्किल से मिल रहा है उसका पैसा कहीं फिर से खतरे में ना पड़ जाए।

पीएसीएल में जमा था ज्यादा पैसा अब मिल रहा कम

ज्यादातर पीएसीएल के निवेशकों का यह कहना है कि उन्होंने पीएसीएल की कई स्कीमों के माध्यम से हजारों एवं लाखों रुपए जमा किए थे परंतु वह केवल हजार में ही रुपया मिल रहा है ऐसा क्यों ? इस उत्तर में न्यूज़ दुनिया की मीडिया टीम आपको बताना चाहेगी कि जब भी कोई कंपनी खुलती है उसका कुछ परसेंट हिस्सा रिजर्व रखा जाता है जो कंपनी के डिफॉल्ट के समय क्रेडिटरओं का भुगतान करने के लिए काम में आता है वहीं पीएसीएल के मामले में भी कुछ ऐसा ही हुआ है जहां पर रिजर्व फंड का यूज किया जा रहा है जिसके माध्यम से निवेशकों को भुगतान किया जाना है।

Breaking News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *