काम न आई सिंधिया की कोई भी मदद अब सहारा निवेशक करेंगे मतदान का बहिष्कार, सहारा इंडिया लेटेस्ट न्यूज़ 2022 टुडे

 

सहारा इंडिया लेटेस्ट न्यूज़ 2022 टुडे : सहारा इंडिया में फसे पैसे को लेकर सहारा निवेशकों और एजेंटो की पीड़ा लगातार गहरी होती जा रही है। एक तरफ सहारा इंडिया निवेशकों और कार्यकर्ता को भूल कर उनकों सरकारी संस्था SEBI में जाने की कह रही है वही निवेशकों का भुगतान कब होगा यह भी नहीं बता रही है। सहारा इंडिया की बिगड़ी स्थिति के बीच निवेशक अब एजेंट पर दबाब बनाने लगे है जिसने चंद पैसे के लिए सहारा में पैसा जमा कराया था। सहारा इंडिया के कारण एजेंट का घर भी चल रहा था जिसमे उसने खुद का पैसा भी फसा दिया। एक लाइसेंस कंपनी(सरकार द्वारा दिया गया परमिट) होने के नाते सभी निवेशकों और एजेंटो ने सहारा समूह में अपना पैसा फसा दिया जो अब मिलना बंद हो गया है वही भविष्य में वह कब मिलेगा आज तक पता नहीं।   


दो -दो साल पहले ही पूर्ण हुई मचुरिटी

सहारा इंडिया में अपना पैसा फ़साने वाले निवेशकों का सहारा समूह पर आरोप है की सहारा इंडिया में जब अपना पैसा जमा किया था तब बताया गया था की इस समय सीमा के बाद आपका भुगतान ब्याज सहित दिया जायेगा वही मचुरिटी पूर्ण हुए करीब 2 साल से ज्यादा हो गए है परंतु अभी तक न भुगतान दिया है न कोई आश्वाशन की कब तक गरीब निवेशकों का भुगतान मिलेगा। सहारा इंडिया में पैसा जमा करने वाले निवेशकों में सबसे ज्यादा फीसदी उन निवेशकों की है जो हाथ ठेले का काम कर एवं कोई अस्थाई काम करते है वही सुप्रीम कोर्ट को इस मुद्दे को छूना चाहिए।  




कैलारस मुरैना से उठा निवेशकों का बिरोध 

सहारा इंडिया के खिलाफ अब निवेशक और सम्म्मानित निवेशककर्ता सहारा समूह के खिलाफ सड़कों पर निकलकर बुलंद आवाज में अपनी मांग रख रहे है। जानकरी के मुताबिक आज से कुछ महीने पहले मुरैना एवं कैलारस समेत ग्वालियर आँचल के लोग गुना – शिवपुरी सीट से भाजपा सांसद एवं उड्डयन मंत्री श्री ज्योतिराधे सिंधिया से मिलने पहुंचे थे जहा निवेशकों ने अपनी परेशानी से श्रीमंत सिंधिया को अबगत कराया था वही सिंधिया की और से भुगतान करने का आश्वाशन पुरे तरीके से झूठा निकला। अब निवेशकों ने मप्र नगर निकाय चुनाब में वोट का बहिष्कार करने के लिए ठान लिया है वही आने वाले लोकसभा अवं बिधानसभा चुनाव में वोटिंग एवं सरकार का बिरोध किया जायेगा। 

Breaking News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *