Months format

Show More Text

Load More

Related Posts Widget

Article Navigation

Contact Us Form

सहारा इंडिया से अपने पैसे बापस लेने हेतु निवेशकों का आंदोलन, sahara india news

 sahara india news protest against sahara group in delhi, sahara india refund news

डेस्क रिपोर्ट, बिजनिस : सहारा इंडिया में फसी निवेशकों की रकम उनको लौटाने के लिए देश के ग्रह मंत्री एवं सहकारी मंत्री श्री अमित शाह ने जिस Sahara Refund Portal की घोषणा की थी आज उससे भी निवेशकों को पैसा नहीं मिल पा रहा है जिसके खिलाफ आज सहारा इंडिया Swapna Roy की सहकारी समितियों के खिलाफ दिल्ली में आंदोलन किया गया है। 

आपको बता दे की यह आंदोलन सयुक्त आल इंडिया संघर्ष न्याय मोर्चा के बैनर तले दिल्ली के रामलीला मैदान पर किया गया था जिसमे मुख्य रूप से दिल्ली, महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्यप्रदेश समेत बिहार से आये सहारा निवेशक भी इस आंदोलन में साक्षी बने वही निवेशक जब मिनिस्ट्री ऑफ़ कोऑपरेशन के दफ्तर को घेरने के लिए निकले तो उनको दिल्ली पुलिस ने रास्ते में रोक लिया गया वही पुलिस और निवेशको के बीच झड़प की खबर भी सामने आई है जिसमे दिल्ली पुलिस ने कई सहारा निवेशकों पर लाठी एवं डंडे चलाये है वही इस छीना झपटी में एक बुजुर्ग घायल भी हुए है। 

Read More : Subrata Roy Sahara Death Reason : क्या सुब्रत रॉय की मौत के बाद सहारा में लगा पैसा सुरक्षित है 

सहारा इंडिया का मामला आखिर क्या है 

सहारा समूह के निवेशकों ने बताया की मार्च 2023 में मोदी सरकार सुप्रीम कोर्ट की इजाजत से एक सहारा रिफंड पोर्टल लेकर आई थी जिसपर निवेशकों से दावा अपलोड कराने हेतु कहा गया था वही सहारा इंडिया ने भी अपने सभी फील्ड वर्कर्स को आदेशित किया था की वह उनके निवेशकों के घर जाकर उनको इस पोर्टल के बारे में बताये जिसके बाद निवेशकों ने भारी पैसा खर्च करके उस पोर्टल पर आवेदन किये थे जिनको कुछ दिनों बाद कमी बताकर मोदी सरकार ने कैंसिल कर दिया हालांकि जो बजह उस पोर्टल द्वारा बताई गई उसमे निवेशकों का कुछ भी लेना देना नहीं है। 

निवेशकों ने बताया की हमको कमी बताते हुए बताया जा रहा है की आप सोसाइटी के ही मेंबर नहीं है जबकि हमने अपने बांड सर्टिफिकेट की ओरिजनल कॉपी स्कैन करके पोर्टल पर अपलोड की थी इसी के साथ निवेशकों ने हमको यह भी बताया की सरकार केवल एक Rs 10,000 की राशि देकर इस मामले को चुनाव तक टालना चाहती है वही अगर इस स्थिति में सरकार कामयाब हो जाती है तो सहारा का पैसा मिलना मुश्किल हो जायेगा।  

जब तक भुगतान नहीं तब तक मतदान नहीं 

आंदोलन में पहुंचे निवेशकों ने मोदी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि अगर 2024 के चुनावो तक हमारा भुगतान नहीं होता है तो हम आने वाले लोकसभा चुनाव में जमकर सहारा रिफंड पोर्टल और मोदी सरकार का विरोध करेंगे और हम समेत हमारा परिवार मोदी सरकार को बिल्कुल भी मतदान नहीं करेगा। 



No comments:

Lorem ipsum, or lipsum as it is sometimes known, is dummy text used in laying out print, graphic or web designs.