Breaking

मंगलवार 08 2022

Chandra Grahan 2022 SideEffects : गृह की दिशा के बदलाब के कारण इन राशियों पर मंडरा रहा खतरा, यह रहेगी बजह

 Chandra Grahan 2022 SideEffects : गृह की दिशा के बदलाब के कारण इन राशियों पर मंडरा रहा खतरा, यह रहेगी बजह
Lunar Eclipse 2022 Side Effects : चंद्रग्रहण (lunar eclipse 2022) को लेकर एक बार फिर बड़ी खबर है। जानकारी के अनुसार देव दीपावली पर चंद्रग्रहण लगने वाला है खबर है कि यह 8 नवंबर 2022 को लगने वाला है वहीं भारत में भी यह दिखाई देने वाला है। ज्योतिषाचार्य महेश्वरी जी द्वारा बताया गया की यह चंद्रग्रहण के कारण ग्रहों की विशेष स्थिति बनने वाली जिसके कारण कुछ राशियों पर इसका प्रभाव पड़ने वाला है वही वह राशि कौन सी होने वाली है और क्या अशुभ हो सकता है वह आज आपको बताने वाले हैं। 

यह भी पढ़े : एप्रिन पहन नर्स और डॉक्टर की जगह स्वीपर द्वारा टांके लगाने का मामला सामने आया

चंद्र ग्रहण पर अलग हो सकती है ग्रहों की चाल

चंद्र ग्रहण पर ग्रहों की चाल अलग हो सकती है। खबर है कि सेनापति मंगल, साहित्य सूर्य - सनी आमने-सामने हो सकते हैं। जबकि, अगर बात तुला राशि की करे तो सूर्य चंद्रमा, बुध एवं शुक्रवार की युति बन रही है। वही हिंदू पंचांग के अनुसार बताया गया है कि शनि कुंभ राशि में पंचम तथा मिथुन राशि में नवम भाव पर मंगल की युति हो सकती है। जबकि ग्रहों की स्थिति की वजह से चंद्र ग्रहण में अशुभ संकेत दिखाई दे रहे हैं। 

इन देशो में दिखाई देने वाला है चंद्र ग्रहण 2022

चंद्र ग्रहण 2022 कुछ देशों में दिखाई देने वाला जिनमें से भारत भी एक देश है वहीं भारत के अलावा उत्तर पूर्वी यूरोप, सहित प्रशांत महासागर, हिंदी महासागर, दक्षिण अमेरिका सहित एशिया में यह दिखाई देगा। इसके अलावा साल एवं आखिरी में दूसरा चंद्रग्रहण पश्चिमी यूरोप सहित दक्षिणी यूरोप एवं अफ्रीका महाद्वीप में नजर आने वाला है। 

यह भी पढ़े : पालकी में निकलते ही महाकाल की सबारी में मचा शोर, पुलिस ने चलाया डंडा  

इन राशियों पर रहेगा प्रभाव 

ज्योतिषियों के मुताबिक मिथुन कन्या, वृषभ, तुला, वृश्चिक राशि के जातकों के लिए यह समय बड़े ही संभल कर रहने वाला है वही इन राशियों पर आर्थिक मानसिक, कार्य एवं सेहत का प्रभाव पड़ सकता है। वही लोगों को संभलकर रहने की बात ज्योतिषाचार्य द्वारा बताई गई है। ज्योतिषाचार्य माहेश्वरी द्वारा बताया गया कि चंद्रग्रहण का समय 8 नवंबर को श्याम 5:32 से शुरू होने वाला है जबकि वह 6:18 पर समाप्त होगा वही सूतक काल 9:21 से शुरू होगा जबकि वह 6:18 पर समाप्त होगा। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Contact Us Form

नाम

ईमेल *

संदेश *

लोकप्रिय पोस्ट