Breaking

बुधवार 05 2022

सहारा इंडिया एजेंटो की तकलीफ सुनने में नाकाम हुआ सुप्रीम कोर्ट ऑफ़ इंडिया, sahara sebi case money refund

 

लोकसभा में कब उठेगा सहारा सेबी केस का मुद्दा एजेंटो ने पूछे न्यायलय से सवाल, sahara sebi case money refund
Sahara India Ka Paisa Kab Milega : सहारा सेबी केस(sahara sebi case) के कारण प्रताड़ित हो रहे एजेंटों(sahara agents) ने अपने लंबित भुगतान की मांग की है। जानकारी के अनुसार सहारा परिवार के कर्मचारियों ने विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना के हस्तक्षेप से भुगतान कराने की गुहार लगाई है। कंपनी की एजेंटों ने बताया है कि जमाकर्ताओं का भुगतान नहीं होने से लगातार बुरी स्थितियों से गुजारना पड़ रहा है वहीं यह स्थिति कब तक चलती रहेंगी और कब तक सहारा इंडिया का प्रताड़ित एजेंट मरता रहेगा। जानकारी है कि कंपनी के कई एजेंटो ने भुगतान न होने के कारण आत्महत्या तक कर ली है। 

इसके पूर्व भी सहारा इंडिया परिवार(sahara india pariwar) के कर्मचारी एजेंट अपने भुगतान की मांग प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी समेत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित लोकसभा स्पीकर ओम बिरला से भी कर चुके हैं परंतु कहीं से भी लोगों का भुगतान नहीं मिला है। जानकारी है कि कंपनी के एजेंटों पर इस समय बहुत बुरी स्थिति गुजर रही है। कंपनी के एजेंट ने ही लोगों का पैसा सहारा में जमा कराया था वहीं अब एजेंट सहारा और जमाकर्ता के बीच में एक निशाना बन चुका है जो लगातार पीड़ित हो रहा है। 

यह भी पढ़े : इकनोमिक ओफ्फेंस विंग ने मारी यहाँ रेड मिली इतनी करोड़ की जायदाद 


जमाकर्ता करते हैं मारपीट 

सहारा इंडिया परिवार के जो निवेशक कानपुर के स्पीकर को पत्र देने के लिए आए। उन्होंने बताया कि जमाकर्ता का पैसा सहारा इंडिया में जमा किया था वहीं अब उस जमाकर्ता की जमा अवधि पूर्ण हो चुकी है और वह अपना भुगतान मांग रहा है परंतु जब पैसा ही नहीं है तो भुगतान कहां से दे। वही ऐसा न करने पर जमाकर्ता एजेंटों के साथ मारपीट कर रहे हैं जिसके कारण एजेंट की इस समय सबसे बुरी दुर्दशा हो रही है।

 

न्यायलय हुआ नाकाम 

सहारा परिवार के कर्मचारियों ने बताया है कि कंपनी लगातार 10 साल से कानूनी लड़ाई लड़ रही है। कानूनी लड़ाई के कारण ना तो लोगों को पैसा मिल रहा है और ना ही आम निवेशक को पैसा मिल रहा है जिसके कारण बड़ी बुरी स्थिति आन पड़ी है। जानकारी है कि एजेंटों को कई महीने से बकाया वेतन तक नहीं मिला है। सहारा परिवार के कर्मचारियों का कहना है कि सहारा सेबी केस के कारण लगातार बुरी स्थिति बनी हुई है। देश का न्यायालय भी सहारा परिवार के कर्मचारियों की तकलीफ सुनने में नाकाम साबित हुआ है। 

बच्चों को शिक्षा देने में नाकाम सहारा एजेंट 

सहारा एजेंटों ने कहा है कि बच्चों को पढ़ाने तक के लिए उन लोगों के पास पैसा मौजूद नहीं है। लोगों ने बताया कि भारी भरकम पैसा सहारा इंडिया परिवार में बच्चों के भविष्य के कारण जमा किया था परंतु कुछ ऐसा खेल रचाया गया जिसके कारण आज लोगों का पैसा फस चुका है। उस पैसे की न तो मिलने की उम्मीद दिख रही है और ना ही आगे की कोई नीति परंतु उम्मीद आज भी कायम है कि जल्द लोगों को पैसा मिलेगा इसीलिए कोर्ट जल्द इस मामले में संज्ञान लेते हुए लोगों को उनका भुगतान दिलाना सुनिश्चित करें।

कोई टिप्पणी नहीं:

Contact Us Form

नाम

ईमेल *

संदेश *

लोकप्रिय पोस्ट