Breaking

शनिवार 08 2022

2018 बिधानसभा चुनाब में इस छेत्र के कारण हुई थी भाजपा की हार, अब भाजपा कर रही फोकस : Madhya Pradesh Politics News Today

mp assembly election 2023 : मध्यप्रदेश(mp news) के मांडू में भाजपा का आज प्रशिक्षण शिविर का दूसरा दिन है। विधानसभा चुनाव 2023(mp assembly election 2023) को लेकर भाजपा ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है। जानकारी है कि भाजपा कुछ जिलों पर मजबूती कायम करना चाह रही है जिनमें से भाजपा का सबसे बड़ा फोकस इस समय मालवा निवाड़ पर बना हुआ है। क्योंकि मालवा निवाड को प्रदेश का गढ़ माना जाता है वही 2018 में हुए बिधानसभा चुनाबों में यह गढ़ भाजपा की हार का सबसे बड़ा परिणाम था। आगे पोस्ट में हम आपको और संक्षिप्त में समझाते है। 

यह भी पढ़े : रक्षा मंत्री के साथ बैठे मिले सुब्रता रॉय लाखो लोगो की ले चुके है जान

जानकारी के अनुसार 2023 में मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाबों को लेकर भाजपा अपना गढ़ मजबूत करने में बनी हुई है जिसके तहत भाजपा ने मालवा निमाड़ को टारगेट कर रखा है। जानकारी है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उज्जैन के दौरे पर पहुंच रहे हैं तो उसमें बीजेपी भी तीन दिवसीय प्रशिक्षण शिविर मांडू मेंलगा रही है।

  

मालवा निमाड़ पर हर सत्ताधारी पार्टी का फोकस 

मालवा निवाड़ मध्य प्रदेश के कुछ ऐसे गढ़ माना जाता हैं जिनको मजबूत करने से किसी भी पार्टी की विधानसभा में जीत मुमकिन हो सकती है वही ऐसा न करने पर हार भी हो सकती है। वही दोनों ही विपक्षी पार्टियां इस गढ़ पर मजबूती के लिए प्रयासरत है। वही भाजपा इस गढ़ को पाने के लिए भरपूर मेहनत में लगी हुई है। प्रदेश की सत्ता पर किस का राजतिलक होता है यह देखने वाली बात है परंतु अगर बात पिछले 5 विधानसभा चुनावों की करें तो यह गढ़ के कारण पॉलिटिक्स में उथल-पुथल मची हुई है। 

यह भी पढ़े : भोपाल सहित इन इलाको में मौसम बिभाग ने जारी किया रेड अलर्ट  

मालवा निमाड़ विधानसभा सीट 

मालवा निमाड़ विधानसभा की करीब 66 सीटें आती हैं। 2018 के विधानसभा चुनावों के नतीजे उठा कर देखे तो भाजपा की हार की सबसे बड़ी वजह मालवा निवाड़ थी क्योंकि यहां पर फिलहाल की 66 सीटों में से करीब 35 सीटों पर कांग्रेस राज करती है। बीजेपी को करीब 28 सीटें मिली थी। जिससे कांग्रेस 15 साल बाद एक बार फिर सत्ता में वापस लौटी थी परंतु कांग्रेस की किस्मत साथ नहीं दे रही थी जिसके बाद फिर भाजपा ने कांग्रेस का दबदबा छीन लिया।

 

इस बर्ग पर देना होगा खास फोकस

अगर भाजपा 2023 के विधानसभा चुनावों में अपनी जीत प्रशिक्षण को लेकर चिंतित है तो वह इन दोनों जगह पर आदिवासी वर्ग पर खास फोकस करेगी  क्योंकि बात अगर निवाड़ की करें तो वहां पर भी आदिवासी वर्ग की एक अच्छी खासी आबादी है। वही अगर बात कांग्रेस की करें तो कांग्रेस भी लगातार 2023 के विधानसभा चुनावों को लेकर तैयारियों में जुटी हुई है। अब यह देखना है कि इन  66 सीटों में से कितनी सीट भाजपा ले पाती है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Contact Us Form

नाम

ईमेल *

संदेश *

लोकप्रिय पोस्ट