Breaking

सोमवार 26 2022

Ashok Gehlot Supporters ने दिया इस्तीफ़ा सोनिया दिख रही काफी नाराज, राजनीती के रण से खास खबरे

 

Ashok Gehlot Supporter ने दिया इस्तीफ़ा सोनिया दिख रही काफी नाराज, राजनीती के रण से खास खबरे

डेस्क रिपोर्ट, राजस्थान : कांग्रेस पॉलिटिक्स में एक बार फिर राजनीतिक मसले बढ़ने वाले है। जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत(ashok gehlot) के समर्थकों ने बीती रात विधानसभा अध्यक्ष सी पी जोशी(c.p joshi) को अपना इस्तीफा(resignation) सौंप दिया है। जानकारी यह है कि राज्य विधानसभा के सचेतक महेश जोशी ने मीडिया चर्चा में कहा कि हमने अपना इस्तीफा दे दिया है अब आगे जो भी करना है उसका फैसला अब विधानसभा अध्यक्ष करेंगे। 

यह भी पढ़े : बिलासपुर से उड़ान भरने वाली यह फ्लाइट हुई कैंसिल

जानकारी के अनुसार कांग्रेस की लगाता तख्तापलट देखने के लिए मिल रही है। बचे कुछे 2 राज्यों में ही तो कांग्रेस की सरकार सही ढंग से चल रही थी वहां भी अब गड़बड़ घोटालों की आशंका जताई जा रही है। यह पूछे जाने पर कि कितने विधायकों ने इस्तीफा दिया है उन्होंने कहा कि लगभग 100 विधायकों ने अपना इस्तीफा सीपी जोशी जी को सौंप दिया है। 

कांग्रेस ने बुलाया दिल्ली

हलचल राजस्थान से शुरू हुई तो अशोक गहलोत समेत सचिन पायलट को दिल्ली बुला लिया गया। जानकारी के अनुसार सीएम अशोक गहलोत को भी दिल्ली बुलाया गया है। फिलहाल, गहलोत दिल्ली जाने के लिए कब निकलेनेगे यह पता नहीं है परंतु सीएम गहलोत पूरे घटनाक्रम के बारे में सोनिया गांधी को बता सकते हैं।  खबर यह भी निकल कर आई है कि सोनिया गांधी अशोक गहलोत से काफी नाराज चल रही है वहीं कांग्रेस की पॉलिटिक्स अब क्या खेल खेलती है यह देखने वाली बात है। 

देर रात तक चलता रहा ड्रामा

विधायक दल की बैठक रविवार शाम 7:00 बजे मुख्यमंत्री निवास में होनी थी परंतु बैठक से पहले ही गहलोत के वफादार माने जाने वाले 100 विधायकों ने अपना इस्तीफा सीपी जोशी जी को सौंप दिया। विधानसभा अध्यक्ष डॉ जोशी के आवास पर पहुंचे और आधी रात को ही अपना इतनी इस्तीफा दे डाला। 


अशोक गहलोत के समर्थकों ने मांग की है कि कांग्रेस अपनी आलाकमान के सामने कुछ मांगे रखें। जैसे कि उन्होंने कहा कि 19 अक्टूबर तक कांग्रेस के सभी विधायक दल की बैठक ना हो और कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव के नतीजों के बाद में विधायकों की मांग को पूरा किया जाए। अशोक गहलोत के साथियों की मांग है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष बनने दो इसके बाद विधायकों की राय लो इसके बाद में ही कुछ काम हो सकेगा तभी उसको मंजूरी मिलेगी। 


गहलोत के साथी विधायकों ने यह भी मांग की है कि कोई ऐसा पदअधिकारी नेता बनना चाहिए जिसने 2020 के समय कांग्रेस की रणनीति को बनाए रखने के में एक खास सपोर्ट किया हो न कि एक ऐसे नेता को मौका देना चाहिए जिसको कांग्रेस की एबीसीडी भी ना पता हो। वहीं कांग्रेस के गहलोत समर्थक विधायक भी कांग्रेस से काफी नाराज दिखे हैं। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Contact Us Form

नाम

ईमेल *

संदेश *

लोकप्रिय पोस्ट