Breaking

शुक्रवार 19 2022

काफी कोशिश के वाद भी आज तक नहीं सुधर पाया एमपी बोर्ड, सरकार कब करेगी शिक्षा में सुधार

 

डेस्क रिपोर्ट, ग्वालियर : पढ़ने के लिए छात्र को एक अच्छे स्कूल की जरूरत होती है। वह छात्र स्कूल में किस तरीके से पड़ेगा वही किस तरीके से उसका व्यवहार रहेगा। वह इस चीज पर डिपेंड करता है कि कैसा उसको माहौल मिलता है। मध्य प्रदेश के स्कूलों की काफी बुरी हालत है। जानकारी के मुताबिक जब बच्चों से हमारी न्यूज़ दुनिया की टीम ने बात की तो बच्चों ने बताया कि मैथ्स में हम लोग काफी वीक रहते है। हमारे नंबर मैथ्स में काफी कम आते है जिसके पीछे की एक असल वजह शिक्षकों का ढंग से ना पढ़ाना है वही सरकार इस मुद्दे को लेकर कब एक्शन में आएगी यह पता नहीं है। 

यह भी पढ़े : 12 सरकारी कर्मचारी हुए निलंबित वही कई शिक्षकों के रुके बेतन 

एमपी बोर्ड के विद्यार्थियों ने बताया कि कभी शिक्षक मौजूद नहीं रहते है तो कभी पढ़ाई ढंग से नहीं होती है। जिसके कारण ओवरऑल परसेंट में काफी गिरावट हो जाती है वही बच्चे अपने मां बाप से कहते हैं कि हमको आप प्राइवेट स्कूल में क्यों नहीं पढ़ाते हैं तो मां-बाप का कहना है कि अगर इतना ही पैसा होता तो सरकारी स्कूल में एडमिशन ही क्यों कराते। क्यों बच्चों को प्राइवेट स्कूलों में एडमिशन नहीं दिलवा दे। पर क्या करें पैसे से मजबूरी के कारण हम लोगों ने बच्चों को मध्य प्रदेश बोर्ड में डाला है। 

जब बच्चों के मां-बाप से स्कूल की शिक्षा के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि शिक्षक इतनी मोटी सैलरी लेते हैं तो वह क्यों अपने पद पर सही ढंग से काम नहीं करते हैं। क्यों वह बच्चों के भविष्य को बेहतर बनाने के लिए कार्य नहीं करते।  हम सरकार चुनते हैं तो हम इसलिए चुनते हैं ताकि हमारे बच्चों का भविष्य तैयार किया जा सके। अगर सरकार इस मुद्दे को नहीं देखती है तो आने वाले चुनावों में हम सरकार का विरोध करेंगे।

बच्चों के मां-बाप की तरफ से यह भी बताया गया कि कुछ शिक्षक तो ऐसे हैं जो स्कूल खत्म होने के बाद भी बच्चों की ओर ध्यान देते हैं वहीं कुछ शिक्षकों के कारण ही पूरा एमपी बोर्ड बदनाम हो रहा है। तो यह जिम्मेदारी एमपी बोर्ड सहित सरकार की है कि जो शिक्षक पूरा माहौल गंदा कर रहे हैं उन शिक्षकों पर लगाम कसी जाए। जिससे बच्चों के आने वाले भविष्य पर इसका कोई भी असर ना पड़े और बच्चे अपना संपूर्ण प्रयास कर सके और अच्छे नंबरों से पास हो सके। 

कोई टिप्पणी नहीं:

सहारा इंडिया की घोटाले पर एडवोकेट अजय टंडन के साथ LIVE | sahara india news |

लोकप्रिय पोस्ट