Breaking

मंगलवार 23 2022

सीएम शिवराज सिंह चौहान खुद रेस्क्यू ऑपरेशन की समीक्षा कर रहे है - MP NEWS

 

Flood इन मध्य प्रदेश : मध्य प्रदेश में लगातार हो रही भारी बारिश के कारण मध्य प्रदेश के कई जिले पानी में लगभग समा चुके हैं। वहीं मध्यप्रदेश की हालत भी अस्त-व्यस्त हो चुकी है। कई जगह तो नदियों का जलस्तर इतना बढ़ चुका है कि डेम के सभी गेट खोले जा चुके हैं वहीं कई गांव ऐसे हैं जहां पर लोगों को रेस्क्यू ऑपरेशन के जरिए हेलीकॉप्टर से भी निकालने की नौबत आ गई है। जानकारी के मुताबिक मध्यप्रदेश में SDRF और एनडीआरएफ की टीम में तैनात है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान खुद लोगों की सुरक्षा का जायजा ले रहे हैं और बाढ़ पीड़ितों की खबर भी सीधे सीएम शिवराज सिंह चौहान तक पहुंच रही है।  


बाढ़ में फंसे लोगों को निकालने के लिए एसडीआरएफ और एनडीआरएफ की टीम ने लगातार रेस्क्यू ऑपरेशन जारी रखी है। लोगों को राहत पहुंचाने के लिए राहत कैंप भी बनाए गए हैं। वहीं हेलीकॉप्टर से भी मदद लगातार ली जा रही है। वहीं ज्यादा प्रभावित इलाकों में फ़ूड पैकेट भी बटबाने के निर्देश दिए गए हैं। दरअसल राहत कैंप में भोजन इत्यादि व्यवस्था बनाने हेतु मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की तरफ से निर्देश दिए गए हैं। 



बाढ़ में फंसे पीड़ितों की जानकारी लगातार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सीएम हाउस के द्वारा ले रहे हैं वहीं प्रभावित इलाकों में भी फोन पर चर्चा कर रहे हैं। ग्वालियर कमिश्नर से फोन पर चर्चा कर गुना और आसपास के प्रभावित क्षेत्रों की जानकारी भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा ली गई है। साथ ही उन्होंने विदिशा में पेयजल व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए निर्देश दिए हैं। 

रात भर तक बिजली व्यवस्था बनाए रहने के लिए मध्यप्रदेश शासन का बिजली विभाग लगातार काम कर रहा है। जिसके लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने सभी बिजली कर्मियों को बहुत-बहुत धन्यवाद ज्ञापित किया है। जानकारी के मुताबिक कई जिलों में अति बारिश होने के कारण बिजली का संपर्क टूट चुका था परंतु बिजली कर्मियों के कठोर प्रयास के कारण लगातार बिजली बहाल करने की कोशिश निरंतर की जा रही है और आने वाली परिस्थितियों को भी झेलने के लिए MPEB भी लगभग पूरी तरीके से तैयार है। 


कोई टिप्पणी नहीं:

सहारा इंडिया की घोटाले पर एडवोकेट अजय टंडन के साथ LIVE | sahara india news |

लोकप्रिय पोस्ट