Breaking

सोमवार 18 2022

सरपंच से 1 लाख की रिश्वत लेते हुए पकडे गए तहसीलदार सुधाकर, कार्यबाही के बाद ससपेंड - Shivpuri News

 

न्यूज़ रिपोर्ट, शिवपुरी : शिवपुरी में हुए  निकाय चुनावों के बाद अब लगातार कुछ नए मामले सामने आ रहे हैं।  जहां पर रिश्वत लेते हुए सरकारी अफसर अब पकड़े जा रहे हैं वही लोकायुक्त लगातार कार्रवाई भी कर रहा है।  ऐसा ही कुछ नया मामला शिवपुरी से फिर सामने आया है जहां पर शिवपुरी सामान्य लोकायुक्त टीम ने मंगलवार को हाल ही में हुए रिश्वत कांड में लोकायुक्त पुलिस की छापेमारी कार्रवाई को अंजाम दे दिया। जानकारी के अनुसार तहसीलदार को एक लाख की रिश्वत लेते हुए पकड़ा गया है वही रंगे हाथों उनके पास से ₹100000 भी बरामद किये गए है।  जिसके बाद उन्हें अब शिवपुरी से हटा दिया गया है।

जानकारी के अनुसार जिला कलेक्टर शिवपुरी ने पत्र क्रमांक 766-6-2 दिनांक 14 जुलाई को जारी किया था कि दिनांक 12 जुलाई 2022 को सोशल मीडिया एवं 13 जुलाई को समाचार प्राप्त अनुसार जानकारी मिली थी कि सुधाकर तिवारी प्रभारी तहसीलदार खनियाधाना जिला शिवपुरी लोकायुक्त टीम द्वारा ₹100000 की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार हुए थे। जैसे ही महत्वपूर्ण कार्य में पद इन कर्तव्यों के प्रति लापरवाही करते हुए उनकी पद की गरिमा को उन्होंने बहाल किया। वैसे ही उनके खिलाफ लगातार कार्रवाई की गई है। निर्वाचन में कानून व्यवस्था सहित सीएम हेल्पलाइन जैसे कार्य में लापरवाही बरती गई थी। इसलिए मध्य प्रदेश की अप सिविल सेवा आचरण नियम 1965 के नियम के विपरीत होकर कदा चरण की श्रेणी में आता है इसलिए सुधाकर तिवारी प्रभारी तहसीलदार को तत्काल निलंबन किया जाता है वही उनके निलंबन के बाद अभी मैं तिवारी मुख्यालय शिवपुरी रहेंगे वही नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता होगी।  

कोई टिप्पणी नहीं:

लोकप्रिय पोस्ट