Breaking

मंगलवार 19 2022

MP NEWS : सिंधिया के गढ़ में 57 साल बाद कांग्रेस की बिजय,चिटफंड पीड़ितों ने नहीं दिया भाजपा को वोट वही कमलनाथ ने भी टक्कर

 

मध्यप्रदेश की धरती पर 2023 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले ही भाजपा और कांग्रेस में एक बड़ी टक्कर देखने के लिए मिली है। सत्ता का सेमीफाइनल कहे जाने वाले नगर निकाय चुनावों में कांग्रेस ने भी अपना भरपूर प्रयास किया है. सबसे बड़ा उलटफेर ग्वालियर में देखने के लिए मिला है। जानकारी के अनुसार ग्वालियर नगर निगम भाजपा का गढ़ माना जाता था परंतु 57 साल बाद यहां पर कांग्रेस का महापौर है वही ग्वालियर में सिंधिया परिवार के पूरी तरह भाजपा होने के बावजूद कांग्रेस ने 57 साल बाद अपने महापौर जितवा लिए। दरअसल केंद्र की मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस पार्टी का हिस्सा छोड़ दिया था। इसके बावजूद लोगों ने भाजपा को ही छोड़ दिया और अब कांग्रेस को मौका दिया गया है। 

< /p>

चिटफंड पीड़ित लोगों ने नहीं दिए वोट  

सिंधिया के सपोर्टर माने जाने वाले लोगों ने सिंधिया को और उनके नेताओं को वोट नहीं दिया। मसला था कि ग्वालियर परीक्षेत्र के लोग सिंधिया से मिलने के लिए उनके दिल्ली निवास पर पहुंचे थे। जहां पर उन्होंने सहारा इंडिया समेत चिटफंड मुद्दों पर सिंधिया से बात की थी वही सिंधिया ने लोगों को भरोसा दिलाया था कि जल्द से जल्द चिटफंड लोगों को उनका पैसा दिलाया जाएगा परंतु 3 महीने गुजर जाने के बाद भी लोगों को पैसा नहीं मिला जिसके बाद लोगों ने अपने घरों के बाहर बोर्ड लगा दिए कि यहां चिटफंड पीड़ित लोगों का निवास है तो यहां पर कृपया वोट मांगने ना आए वही लोगों ने इस बार भाजपा को सबक सिखा दिया है। 

रविवार को परिणाम आने के बाद पहले चरण में 11 में से 7 नगर निगमों में भाजपा का महापौर होगा वहीं कांग्रेस को जबलपुर, ग्वालियर, सहित पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के गढ़ छिंदवाड़ा में सफलता मिल गई है वहीं प्रदेश के निकाय चुनावों में पहली बार कभी तीसरी पार्टी की एंट्री हुई है जहां पर आम आदमी पार्टी ने सिंगरौली नगर निगम पर अपना कब्जा रख लिया है। असुर उद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM ने एक पार्षद ने भी चुनाव जीत अपनी  पार्टी को अपना भी हासिल करवाइ है। हालांकि, दूसरे चरण में 20 जुलाई को 5 नगर निगमों पर रिजल्ट आना अभी बाकी है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

सहारा इंडिया की घोटाले पर एडवोकेट अजय टंडन के साथ LIVE | sahara india news |

लोकप्रिय पोस्ट