Breaking

शुक्रवार 29 2022

BGMI Ban In India news : Pubg के बाद अब बैन हुआ एक मल्टीप्लयेर गेम BGMI

BGMI Ban In India : भारत से पब्जी जाने के बाद अब एक और नए गेम की जाने की बारी आ गई है। जहां पर मल्टीप्लेयर गेम बीजीएमआई बहुत जल्द प्ले स्टोर पर उपलब्ध नहीं रहेगा। क्योंकि भारत सरकार द्वारा अब लगातार चीनी ऐप बैन करे जा रहे है। 

डेस्क रिपोर्ट, दिल्ली :  भारत में लगातार चीनी ऐप को बैन करने के लिए लगातार काम किया जा रहा है। जहां पर मोदी सरकार चीनी ऐप के खिलाफ काफी शख्त दिखाई दे रही है वहीं लगातार उन एप्स को बैन किया जा रहा है वहीं अगर चीनी कंपनी की हिस्सेदारी किसी भी ऐप में होगी तो वह भी बैन किया जाएगा वहीं हिस्सेदारी अगर 1 शेयर की भी होगी तब भी उसे आपको प्ले स्टोर से हटाया जाएगा। 

जानकारी के मुताबिक आज से करीब 3 महीने पहले गरीना फ्री फायर के वर्जन को भी प्ले स्टोर से हटा दिया गया था क्योंकि उसमें चीन की कंपनी टेंसेंट के शेयर्स लगे हुए थे। जिसके बाद फ्री फायर को खुद का ऑफिशियल ऐप लेकर आना था वहीं अब फ्री फायर का मेंक्स वर्जन प्ले स्टोर पर उपलब्ध है। जिसमें चीनी कम्पनीज की बिल्कुल भी हिस्सेदारी नहीं है। 

आज BGMI ने एक लेटर जारी करते हुए बताया कि मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक और इंफॉर्मेशन ने भारत से 1 अगस्त 2022 को KRAFTON के सभी सर्विसेस को बंद करने का फैसला किया है। जिसकी कारण भारत से BGMI भी बहुत जल्द बंद होने वाला है वहीं कंपनी ने यह दावा किया है कि लोगों का डाटा हमेशा सेफ रखा जाता है परंतु भारत के इस फैसले को लेकर अब BGMI रत से हट रहा है और आखिर में लोगो को सपोर्ट करने के लिए कंपनी ने धन्यवाद कहा है। 

इन प्राइवेट गेम एप्लीकेशंस को इसीलिए बैन किया गया क्योंकि सरकार का मानना था कि यह एप्स लोगों का डाटा चुरा कर उसको अन्य कंपनी इसके पास बेचा करते थे। बेचने का काम इतना बड़ा था कि इसमें करोड़ों करोड़ों रुपए का फायदा इन कंपनियों को होता था। कंपनी दावा करती है कि हम किसी का डाटा नहीं बेचते थे परंतु भारत सरकार ने यह मन बना लिया था कि इन एप्स को भारत से बाहर किया जाएगा। दरअसल,  इन एप्स के जरिए बच्चे इन गेम में कपड़े, एलीट पास  इत्यादि चीजें खरीदने के चक्कर में इन गेम्स में काफी पैसा खर्च किया करते थे वहीं अब यह गेम भारत से बंद हो गए हैं तो बच्चे उस पैसे का उपयोग सही जगह पर कर सकेंगे। 

कुछ बच्चों के मां बाप को सरकार का यह फैसला काफी पसंद आया है कुछ मां बाप ने बोला है कि हमारे बच्चे लगातार और पूरे दिन इन गेमों में फंसे रहते थे। वह ना हम से बात करते थे ना कोई और सोशल एक्टिविटी करते थे बल्कि सोशल मीडिया और इन गेम्स में ही लगे रहते थे। अब सरकार के इस फैसले का हम लोग समर्थन करते हैं कि उन्होंने इन गेम्स को बैन किया है वही बच्चे अब अपने समय का सही निस्तारण कर सकेंगे जो कि उनके लिए भी फायदेमंद होगा और उनके परिवार वालों के लिए भी फायदेमंद साबित होगा। 



कोई टिप्पणी नहीं:

लोकप्रिय पोस्ट