Breaking

सोमवार 27 2022

Sahara India Patna High Court : जल्द बढ़ सकती है Sahara प्रमुख Subrata Roy की मुश्किल ,अब नई बेंच कर रही सहारा ग्रुप पर सुनबाई

 

Sahara India Patna High Court : बिहार(sahara india bihar news) की गरीब जनता का पैसा सहारा इंडिया(sahara india scam) में पैसा होने पर पटना हाई कोर्ट(patna high court) इस मामले में सुनवाई कर रहा है। जानकारी के मुताबिक आज से कुछ महीने पहले पटना हाई कोर्ट ने सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय(subrata roy) के खिलाफ कार्रवाई करते हुए गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया था।  जानकारी यह थी कि सुब्रत रॉय सहारा(subrata roy sahara) श्री संदीप कुमार की एकल पीठ के आदेश के बावजूद पटना हाई कोर्ट में उपस्थित नहीं हो सके थे जिसके अध्यादेश के चलते श्री संदीप कुमार की एकल पीठ जो कि सहारा इंडिया पर सुनवाई कर रही थी उसने सहारा प्रमुख के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया था। 

पटना हाई कोर्ट(patna highcourt) की कार्यवाही पर देश की निगाहें बनी हुई है क्योंकि मिसलेनियस देखने वाला पटना हाईकोर्ट में देश का सबसे बड़ा मुद्दा है जो कि सहारा इंडिया परिवार(sahara india bank) और निवेशकों का भुगतान है। वही देश में अपने भुगतान के लिए निवेशक तिल -तिल कर मर रहा है। निवेशक का कहना है सहारा में जा जाकर मांग करते करते थक चुके है परंतु पैसा मिलने का नाम नहीं मिल रहा है ऐसे में निवेशक की आंखें देश की न्यायपालिका पर है उसको भी लगता है की उसका हक़ उसको मिलाकर रहेगा। 

चिटफंड कंपनी बिगड़ती है देश की अर्थव्यवस्था 
भारत जो कि एक डेवलपिंग कंट्री(devloping country) की केटेगरी में आता है यानी कि वे डिवेलप की तरफ बढ़ रहा है वहीं प्राइवेट कंपनी देश को बढ़ाने के लिए आती है। मोदी सरकार देश में प्राइवेट कंपनियों में लगातार तरक्की करवा रहा है जहां पर एक तरफ देश में प्राइवेटाइजेशन के लिए मुद्दे उठाए जा रहे हैं वही रेलवे को भी प्राइवेट के हाथों छोड़ा जाने वाला है। ऐसे में प्राइवेट कंपनियों के नाम पर धब्बा लगाने वाली कंपनियां प्राइवेट का नाम ही बिगाड़ देती है। प्राइवेट कंपनी को धब्बा देने वाली सहारा इंडिया निवेशकों का भुगतान नहीं कर सहारा इंडिया जैसे अन्य निवेशकों को यह बताना चाह रही है की प्राइवेट कंपनियों में पैसा ही नहीं लगाइए क्योंकि अगर आप पैसा लगाएंगे तो आपका हाल सहारा इंडिया के निवेशक जैसा ही होगा। यह बात देश में एक अर्थव्यवस्था को गढ़ बढ़ाने का काम करती है वही प्राइवेटाइजेशन की ओर बढ़ता देश को रोकने का भी काम कर रही है। 

सहारा की दो स्कीमों पर है प्रतिबंध  
सहारा समूह की दो कंपनियों पर प्रतिबंध कायम है वहीं सहारा ग्रुप कहता है कि हमारी पूरी कंपनी पर प्रतिबंध है वहीं टुकड़ों में जो भुगतान दिया जाता है वह क्या इलीगल तरीके से दिया जाता है तब कहां प्रतिबंध जाता है वही एंबार्गो का दर्जा देने वाला सहारा ग्रुप आज केवल लीगल मुद्दों से ही भुगतान दे रहा है। इसका जीता जागता उदाहरण दिल्ली हाई कोर्ट सेंट्रल रजिस्टार का आदेश है जिसके बाद सहारा ग्रुप की सोसाइटी द्वारा निवेशकों को भुगतान दिया गया यानि कहने का मतलब साफ है कि अगर निवेशक कानूनी कार्रवाई एवं कानूनी प्रयास करेगा उसी के माध्यम से उसको पैसा मिलने की संभावना जताना शुरू हो गई है। अगर निवेशक चुपचाप बैठता है और तमाशा देखता है तो उस कंडीशन में उसका भुगतान मिलना मुश्किल दिखाई दे रहा है। 

बिहार विधानसभा घेरने कल पहुंचेंगे निवेशक 
सहारा इंडिया से भुगतान न मिलने से परेशान एजेंट और निवेशक बिहार में बिहार विधानसभा घेरने वाले हैं निवेशक। जानकारी के मुताबिक दिनांक 28 जून 2022 को ऑल इंडिया संघर्ष न्याय मोर्चा के बैनर तले बिहार विधान सभा को घेरने की तैयारी चालू है। जानकारी के अनुसार बिहार विधानसभा में अपने भुगतान की मांग दर्शाने के लिए निवेशक और एजेंट एक अच्छे संख्या बल में पहुंच रहे हैं वहीं बिहार के प्रदर्शन के बाद निवेशक दिल्ली की तरफ अगस्त माह में रुख करने वाले हैं जहां पर दिल्ली में जंतर मंतर पर 5 से 7 तारीख तक धरना प्रदर्शन की तैयारियां शुरू हो चुकी है। 

आज पटना हाई कोर्ट में थी सुनवाई 
सहारा इंडिया के मुद्दे पर पहले श्री संदीप कुमार की एकल पीठ मामले की सुनवाई कर रही थी परंतु हॉनरेबल अंजनी कुमार की एकल पीठ सहारा इंडिया के मुद्दे पर सुनवाई कर रही है वही आज उनकी एकल पीठ ने अपनी पहली सुनवाई दर्ज की वही आज ज्यादा कुछ हो नहीं सका जिसके बाद सहारा इंडिया को 4 हफ्ते का समय दिया गया है जिसके बाद फिर सुनवाई दर्ज की जाएगी। 

कोई टिप्पणी नहीं:

सहारा इंडिया की घोटाले पर एडवोकेट अजय टंडन के साथ LIVE | sahara india news |

लोकप्रिय पोस्ट