Breaking

बुधवार 22 2022

भोपाल से मेयर कैंडिडेट रानी विश्वकर्मा ने वापस लिया नॉमिनेशन, आप नेताओं को कुछ मालूम ही नहीं

 

न्यूज़ रिपोर्ट, भोपाल : खबर भोपाल से जहां पर आम आदमी पार्टी को एक बड़ा झटका लगा है जानकारी के मुताबिक मध्यप्रदेश में होने वाले नगर नगरीय निकाय चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी को एक तगड़ा झटका लगा है जहां पर मेयर कैंडिडेट रानी विश्वकर्मा ने गुपचुप तरीके से अपना नॉमिनेशन वापस ले लिया है वहीं आम आदमी पार्टी के नेताओं को इसकी भनक तक नहीं लगी वहीं जैसे ही नॉमिनेशन वापस लिया गया इस बात की पुष्टि कलेक्टर ऑफिस द्वारा की गई है वहीं रानी ने के आधार पर नॉमिनेशन वापस लिया यह जानकारी लेने के लिए आम आदमी पार्टी लगातार जुट गई और पूरी जानकारियां खोजने लगी। 

दिल्ली और पंजाब में अपनी सियासत चमकाने वाली पार्टी आम आदमी पार्टी इस समय बुरे दौर से गुजर रही है जहां पर मध्य प्रदेश के नगर निकाय चुनावों में मेयर कैंडिडेट्स को उतारा गया था वही विश्वकर्मा भी अपना नॉमिनेशन फाइल कर चुकी थी इसके साथ ही प्रचार प्रसार में भी वे जुड़ चुकी थी परंतु 20 जून को उन्होंने चुपचाप तरीके से अपना नॉमिनेशन वापस लिया जिसकी जानकारी बुधवार तक सामने निकल कर आई है। आप नेताओं को इसकी भनक तक नहीं लगी।  जानकारी के मुताबिक जिला अध्यक्ष बीना सक्सेना कलेक्टर ऑफिस पहुंची और उन्होंने ड्यूटी पर तैनात डिप्टी कलेक्टर निशा बांगरे से नाम वापसी के संबंध में जानकारी ली है। 
प्रेस कॉन्फ्रेंस में खुलासा करने की बात 
जानकारी के मुताबिक रानी विश्वकर्मा के नाम वापस लेने पर आप नेता टेंशन में आ गया जहां पर आप नेताओं के जरिए बताया गया है कि सभी जानकारी प्रेस कॉन्फ्रेंस द्वारा दी जाएगी वहीं जानकारी अभी आई है कि मामले में जब रानी विश्वकर्मा के पति राधेश्याम विश्वकर्मा से फोन पर बातचीत की गई थी तो विश्वकर्मा ने कॉल काट दी मैं दूसरी बार जब कॉल लगाई गई तो बिजी बता रहे थे इसके साथ ही विश्वकर्मा से बात नहीं होने पर यह पता चल रहा है कि रानी ने नॉमिनेशन वापस क्यों लिया। 

मध्य प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष पंकज सिंह ने कहा है कि जिला अधिकारी को कलेक्टर ऑफिस भेजा गया था उन से चर्चा के बाद भी कुछ कहा नहीं जा सकता था वही विधानसभा चुनाव जीतने के बाद आम आदमी पार्टी पहली बार मध्य प्रदेश के नगर निगम चुनाव में किस्मत आजमा रही थी।  मध्य प्रदेश के सभी 16 नगर निगमों में कैंडिडेट उतारे गए थे वही नामांकन वापस लिए जाने का यह पहला मामला सामने आए से पूरी पार्टी हलचल में है भाई मामले की जांच की जाएगी। 

कोई टिप्पणी नहीं:

सहारा इंडिया की घोटाले पर एडवोकेट अजय टंडन के साथ LIVE | sahara india news |

लोकप्रिय पोस्ट