Breaking

गुरुवार 19 2022

Sahara India Money Refund : फिर तिहाड़ जेल की यात्रा पर जा सकते है सुब्रत रॉय सहारा ,सहारा इंडिया लेटेस्ट न्यूज़ 2022 टुडे

 

न्यूज़ रिपोर्ट ,नई दिल्ली : सहारा ग्रुप की चिटफंड वाली नीतियों से फंसे निवेशकों के पैसे कब वापस मिलेंगे । कब निवेशकों को एक बड़ी राहत पहुंचाएगी सहारा इंडिया। सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर टिका है सहारा इंडिया के निवेशकों का पक्ष। गोरखधंधा चलाने वाली सहारा इंडिया पर फिर होनी चाहिए एक कठोर कार्रवाई ।

सेबी के नाम से बनाया मूर्ख 

अलग-अलग स्कीमों से निवेशकों से पैसे बटोरने वाली कंपनी सहारा इंडिया इस समय चिटफंड संस्थाओं के नाम पर शीर्ष में चल रही है। जहां पर निवेशकों का करीबन 5 साल से भुगतान अटका हुआ है वही सहारा इंडिया चिटफंड संस्था उसको सहारा सेबी विवाद का नाम देकर निवेशक को चुप करा रही है । सहारा इंडिया परिवार इस देश की एकमात्र ऐसी कंपनी है जो एक ही ऑफिस में अपनी अलग अलग धंधे चला कर निवेशकों से मोटी कमाई बसुल करती थी वही  उसको लौटाने का भी नाम नहीं ले रही है। इस हरकतों से ही  साफ तरीके से सिद्ध होता है कि सहारा इंडिया निवेशकों का भुगतान करना ही नहीं चाहती है वहीं अब सहारा इंडिया का निवेशक सुप्रीम कोर्ट पर आंख लगाए बैठा है वही सहारा इंडिया के निवेशकों को सुप्रीम कोर्ट से राहत मिलनी चाहिए ।

फिर तिहाड़ जेल की यात्रा करेंगे सुब्रत रॉय

सहारा इंडिया में निवेशकों की मोटी कमाई लेकर मैच्योरिटी होने के बावजूद भुगतान न देने की सहारा इंडिया की साजिश पर एक पर्दाफाश होना चाहिए वही सहारा इंडिया के मालिक और चेयरमैन सुब्रत रॉय सहित कंपनी के पैरा बैंकिंग अधिकारी ओ पी श्रीवास्तव सहित सपना राय को जेल की सलाखों के पीछे एक बार फिर भेजा जाना चाहिए क्योंकि इन 3 लोगों ने सहारा इंडिया में गरीब निवेशकों का पैसा पहले तो जमा कराया जिसके बाद अब उसको लौटाने के नाम पर ढोंग रचा जा रहा है । सहारा इंडिया इस समय चिटफंड संस्थाओं में सबसे शीर्ष पर चल रही है वहीं कोर्ट जल्द ही सहारा इंडिया की प्रॉपर्टी बेचकर निवेशकों का भुगतान कराने का आदेश पारित करें जिससे निवेशकों को एक बड़ी राहत मिल सके ।

सहारा इंडिया के निवेशकों में बढ़ी यह चिंता 

पीएसीएल के मामले में निवेशकों को 15000 तक के भुगतान के लिए ओरिजिनल कार्ड मंगाए जा रहे हैं वहीं अभी से सहारा इंडिया के निवेशकों को यह परेशानी सताने लगी है कि क्या उनका भी तो ऐसा हाल नहीं होने जा रहा है कि उन्हें केवल अपने भुगतान में से कुछ रुपया ही वापस मिल सकेगा तो न्यूज़ दुनिया आपको यह बताना चाहेगा कि सहारा इंडिया की इतनी अचल संपत्तियां हैं कि इनको बेचकर भी सहारा इंडिया अपने निवेशकों का भुगतान कर सकती है वही किसी कंपनी के पास उसके ऐसेट(Asset) से कम अगर उसकी लायबिलिटीज हो तो कंपनी निवेशकों का भुगतान अपने Asset के जरिए ही कर सकती है। इसके साथ ही अगर  बात सहारा इंडिया की जाए तो सहारा इंडिया पर पैसे की तो कोई कमी नहीं है वही सहारा इंडिया अपने आप को एक गरीब संस्था बताने का ढोंग रच रही है परंतु ऐसा बिल्कुल नहीं है अभी भी झारखंड जैसे क्षेत्र में सहारा इंडिया के ऑफिसों में भारी भरकम बिजनेस किया जा रहा है। 

क्रेडिट सोसाइटीओ के डायरेक्टर हुए जेल से रिहा

जानकारी के मुताबिक सहारा इंडिया की क्रेडिट सोसाइटी सहारा यूनिवर्सल प्रोडक्ट रेंज लिमिटेड एवं अन्य संस्थाओं के चार डायरेक्टरों की गिरफ्तारी छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल सरकार के आदेश के बाद देखी गई थी वही उन अधिकारियों से 15 करोड़ के शपथ पत्र पर दस्तखत कराने के बाद ही उनको रिहा कर दिया गया वही भुगतान तो अभी तक हो या नहीं था उसके पहले ही इन अपराधियों को छोड़ना इस देश की न्यायपालिका और सरकार पर प्रश्न खड़े करती हैं। 



कोई टिप्पणी नहीं:

सहारा इंडिया की घोटाले पर एडवोकेट अजय टंडन के साथ LIVE | sahara india news |

लोकप्रिय पोस्ट