Breaking

मंगलवार 03 2022

Parshuram : अक्षय तृतीय के रूप में बनाई जाती है भगवान परशुराम की जयंती,जाने इस त्योहार के बारे में

 


न्यूज़ रिपोर्ट,भारत : मई का तीसरा दिन अक्षय तृतीया के नाम से भी जाना जाता है जिस दिन परशुराम जी जयंती के रूप में इस दिवस को बनाया जाता है। भगवान परशुराम जी का प्रारंभिक नाम राम था जो कि कालांतर में महादेव के प्रति प्राप्त होने के बाद परशुराम हो गया था। समाज को शास्त्र का एक अनूठा पात्र  देने वाले भगवान परशुराम एक अद्भुत संगम माने जाते थे जिसके कारण उनके माता-पिता दोनों ही बिस्प्रसिध् सिद्धियों से संपन्न थे। भगवान परशुराम को ब्राह्मण पिता जमदग्नि को  तत्व पर नियंत्रण रखने की सिद्धि हासिल थी वहीं  क्षत्रिय कुल में मां रेणुका को जल तत्व पर नियंत्रण पाने के लिए वरदान महा ऋषि से मिले थे ।

यह भी पढ़े : सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार को दिया यह आदेश ,मध्य प्रदेश से जुडी रोचक खबरे  


माता-पिता के दिए गए गुणों के साथ जन में परशुराम जी का प्रारंभिक नाम राम था जो कालांतर में महादेव से बचन  प्राप्त होने के बाद में भगवान परशुराम हो गया था। कहा यह भी जाता है कि रामचंद्र में  महासमिति के छत्रिय शासक कार्तीय के पूर्व अत्याचारों से चारों ओर त्राहि-त्राहि मची हुई थी वही शक्ति के मद में चूर सहस्त्रार्जुन एक दिन ऋषि जन्मदग्नि के आश्रम में पहुंचे जहां पर ऋषि ने गौ माता कामधेनु की कृपा से अपने राजा का भव्य स्वागत किया। यह देख कार्तवीर्य लालच में आ गए और कामधेनु मांग बैठे वही ऋषि के इंकार से कार्तवीर्य ने क्रोध में भरकर आश्रम पर धावा बोल दिया और उसे पूरी तरह नष्ट कर दिया जिसके बाद ऋषि पर हमला बोल कर उन्हें भी मार डाला जब यह बात भगवान परशुराम जी को पता चली तो उन्होंने स्त्रोत की सीमा ना रखी जिसके बाद उन्होंने समूची पृथ्वी से क्षत्रिय राजाओं के संग आर की शपथ उठा ली और महासमिति पर धावा बोल कर अपने बर्षो के कार्य वीर्य सहस्त्रार्जुन को उसके समूचे कुल समेत मृत्युलोक पहुंचा दिया।

अक्षय तृतीया पर जन्म लेने के कारण शस्त्र शक्ति भी अच्छे थी और शास्त्र संपदा भी अक्षय थी। वही  परशुराम नाम जो उन्होंने भगवान शंकर ने शस्त्र विद्या की परीक्षा में सफल होने पर पाया था जहां राम मर्यादा बाल लोग निष्ठा का प्रतिष्ठित मान जाने जाते थे वही परशुराम समेत राम अनीति व मोचक शस्त्र धारी माने जाते थे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

सहारा इंडिया की घोटाले पर एडवोकेट अजय टंडन के साथ LIVE | sahara india news |

लोकप्रिय पोस्ट