Breaking

गुरुवार 20 2022

Shivpuri Hindi News : जाधव सागर की बिगड़ती हालत के पीछे कौन ,पढ़े अधिक


 

शिवपुरी। शहर के पुराने शिवपुरी स्थित मैरिज गार्डन संचालक जाधव सागर में अतिरिक्त खाने व हटाने की व्यवस्था कर रहे हैं। इसका जीता-जागता उदाहरण जाधव सागर सरोवर के दर्शन करने के लिए दिखाई देना चाहिए, न जाने कितने ही निष्कासनों की संख्या और विवाह में बचे खाने  को जाधव सागर में फेंक कर दूषित किया जा रहा है।

 यहां बता दें कि इस झील में मगरमच्छ और गैटर भी रहते हैं, झील के दूषित होने से यहां का पानी हानिकारक होता जा रहा है, जो समुद्र में जाने वाले जानवरों के लिए खतरा है। बता दें कि जाधव सागर से सटे करीब चार मैरिज गार्डन हैं और इस सरोवर में शादी और उत्सव के बाद बची हुई मिट्टी उतारी जाती है। इसके साथ ही आसपास के लोग भी इसमें कूड़ा फेंकते हैं। प्रशाशन को इस मामले में कड़ा कदम उठाना चाहिए और मैरिज गार्डन संचालकों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए ताकि वे इस झील में दोबारा मिट्टी न फेंके।

माफिया ने माइनिंग कर क्रॉस भी हटाया

कुछ साल पहले जाधव सागर को बचाने के लिए सफाई अभियान चलाया गया था। इस मिशन के तहत जाधव सागर झील की सफाई की गई और उसके चारों ओर एक क्रॉस का काम किया गया। हालांकि इस चौराहे को खनन माफियाओं ने लगातार उजाड़ दिया और इसका पता लगाकर चौराहे को लगातार यहां से खदेड़ा गया। तभी फिर मैरिज गार्डन के संचालकों ने चौकीदार को रोकने के लिए बिना सहमति के अवैध रूप से क्रॉस तोड़ दिया था।


कोई टिप्पणी नहीं:

सहारा इंडिया की घोटाले पर एडवोकेट अजय टंडन के साथ LIVE | sahara india news |

लोकप्रिय पोस्ट