Breaking

गुरुवार 06 2022

LUCKNOW में सहारा इंडिया और पर्ल्स के निवेशकों हेतु, कांग्रेस उत्तरी सड़को पे



डेस्क रिपोर्ट ,लखनऊ :- उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी सड़को पे सहारा इंडिया और पर्ल्स के निवेशकों के साथ उतर चुकी है और उनकी गाढ़ी कमाई लौटने की मांग हर फोरम तक रख रही है। कांग्रेस के मुताकिब यह कहा कहा गया है की सहारा इंडिया और पर्ल के निवेशक हर फोरम तक अपनी बात रख रहे है, चाहे वो एफआईआर हो या भी कोई और दलील पर सरकार इन गरीब लोगो का पैसा लौटना ही नहीं चाहती तभी तो बीजेपी की सरकार ने सहारा इंडिया और पर्ल के निवेशकों की परेशानी की बात अभी तक एक भी बार नहीं रखी है। 

यह भी पढ़े :- MP गृह मंत्री मिश्रा का बयान , नहीं लगेगा लॉकडाउन खुले रहेंगे बाजार 

कांग्रेस पार्टी के तरफ से यह भी कहा गया की योगी सरकार अपने आप को जीरो टॉलरेंस वाली सरकार बताती है पर यह चिटफंड के पीड़ित निवेशकों के साथ भ्रष्टाचार क्यों हो रहा है। कांग्रेस पार्टी ने चिटफंड के मुद्दे पे मोदी जी की केंद्र की सरकार को घेरते हुए कहा की मोदी जी वैसे तो सबका साथ और सबके बिकास की बात करते है परंतु ,जब बात चिटफंड की आती है तो मोदी जी कहा छुप जाते है। 

यह भी पढ़े :-  लगातार बारिश की बजह से गिरा शिवपुरी का तापमान ,अधिक पढ़े 



जानकारी के अनुसार उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू भी इस प्रदर्शन में शामिल हुए और उन्होंने कहा की सपा ,बसपा,और भाजपा जैसी सरकारों को गरीब से कोई वास्ता ही नहीं रखती उन्हें बस अपनी पार्टी की चिंता रहती है ,गरीब की लड़ाई अभी तक बस कांग्रेस लड़ रही है  भी लड़ती रहेगी क्योकि सहारा इंडिया परिवार और पर्ल्स जैसी ज्यादातर कंपनी में ऐसे लोगो का पैसा एफडी और आरडी है जो मजदूरी एवं ठेला चलते है और उन्होंने अपने मेहनत की कमाई इन कंपनियों में अपने परिवार के सुखद भविष्य  के लिए जमा की थी ,जो की अवधि पूर्ण होने के बाद भी इन गरीब निवेशकों को बापस नहीं मिल पा रही है। अजय कुमार लल्लू ने यह भी दावा किया की कांग्रेस पार्टी इन चिटफंड पीड़ितों की बात सड़क से लेकर सदन तक रख रही है और इन भ्रष्टाचारवाली सरकारों को मुहतोड़ जबाब देने का काम भी हमारी कांग्रेस सरकार कर रही है। 

यह भी पढ़े :-  कोरोना को बढ़ते देख भी नहीं सुधर रहे लोग ,मास्क गायब / Shivpuri news

कांग्रेस के अध्यक्ष श्री लल्लू सिंह के अनुसार सहारा इंडिया  कोऑपरेशन (SIRECL ) और सहारा हाउसिंग इन्वेस्टमेंट कोऑपरेशन लिमिटेड (SHICL )के जरिये 2.25 करोड़ गरीब एवं पीड़ित निवेशकों के करीब 24 हज़ार करोड़ रुपया फसा हुआ है और जरुरी बात यह है की  इस चीज़ की जांच की  के पास इसका कोई रिकॉर्ड मौजूद क्यों नहीं है और यह ही  पर्ल्स ग्रुप की कंपनी PACL का बना हुआ है। 

यह भी पढ़े :- High Court ने केंद्र सरकार ,राज्य सरकार ब सुब्रतो रॉय को  सचेत किया 

कोई टिप्पणी नहीं:

News Duniya Neeraj Sharma Live Coverages

लोकप्रिय पोस्ट