High Court ने केंद्र सरकार ,राज्य सरकार ब सुब्रतो रॉय को सचेत किया

हाईकोर्ट ने करीब एक महीने में जवाब मांगा है।


डेस्क रिपोर्ट ,जबलपुर :- दमोह के 22 लोगो  ने अपना पैसा वापस दिलाने के लिए हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. हाईकोर्ट ने बुधवार को सहारा से जुड़े मामले की सुनवाई करते हुए केंद्र सरकार, राज्य सरकार और सुब्रतो राय सहारा को नोटिफिकेशन दिया है. हाईकोर्ट ने भी करीब एक महीने में जवाब मांगा है।

यह बहुत महत्वपूर्ण है कि सहारा पैराबैंकिंग  कंपनी ने हजारों लोगों की दुकान और करोड़ों रुपये वापस नहीं किए, जिसके बाद सहारा कंपनी के मालिकों सहित उनके प्रतिनिधियों के खिलाफ भी लगातार प्राथमिकी दर्ज की गई है। सहारा कंपनी ने लोगों से यह कहते हुए पैसा रखा था कि उसे राजस्व के साथ वापस मिल जाएगा, 2017 तक सब कुछ ठीक रहा जिसके बाद सहारा कंपनी ने लोगों के जमा पैसे  को वापस देना छोड़ दिया।


पीड़ित लोगों ने पुलिस संगठन से शिकायत की, फिर भी मामला शांत नहीं हुआ। सहारा कंपनी ने दमोह क्षेत्र के पथरिया चौक से ही 13 करोड़ रुपये की वसूली की। समय सीमा समाप्त होने के बाद जब सहारा कंपनी ने पैसा वापस नहीं किया तो निवेशकों ने पुलिस संगठन को भी आवाज दी, लेकिन उन्हें कोई मदद नहीं मिली।


फिलहाल दमोह के सहारा के पीड़ितों  ने इसे लेकर हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। जहां सुब्रतो राय सहारा और उनकी पैराबैंकिंग कंपनी के खिलाफ जज विशाल धाकड़ की कोर्ट में कॉन्फ्रेंस हुई. सम्मेलन के दौरान कोर्ट ने केंद्र सरकार, राज्य सरकार, सहारा चैयरमेन  सुब्रतो राय सहारा और उनके अंचल कार्यालय से अपनी खिंचाई की. हाईकोर्ट को भी करीब एक महीने में जवाब मांगा है। पीड़ितों में अंकित मिश्रा, आशुतोष चतुर्वेदी, आशीष त्रिपाठी ने हाईकोर्ट में दलीलें रखीं।




Post a Comment

0 Comments

Contact Us Form

Name

Email *

Message *