Breaking

गुरुवार 09 2021

MP Weather: मध्य प्रदेश में बदलेगा मौसम का मिजाज, जीतेगी शीत लहर, बढ़ेगी ठंडक

News Cover By Neeraj Kumar Sharma

MP Weather: इसके अलावा भोपाल में भी तापमान में 0.6 डिग्री की गिरावट देखी गई है।


भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में फिर से मौसम में बदलाव (MP Weather) देखने को मिल रहा है। 10 दिसंबर से ठंड बढ़ने के साथ ही मध्य प्रदेश में ठंड बढ़ेगी। इसके अलावा धुंध और कोहरे के कारण सर्द मौसम रहने की संभावना है। मौसम विभाग के मुताबिक गुरुवार सुबह से ही सर्द हवाएं चलने लगी हैं। ठंड बढ़ गई है। इसके साथ ही ग्वालियर को राज्य का सबसे ठंडा क्षेत्र घोषित किया गया है।

मौसम विभाग के मुताबिक, अधिकतम और न्यूनतम तापमान में अंतर हो सकता है, जबकि गुरुवार 9 दिसंबर को प्रदेश के कई हिस्सों में बौछारें पड़ने की संभावना है. इसके अलावा करीब छह इलाकों में धुंध के हालात बने रहेंगे।


इसके अलावा शहडोल संभाग के क्षेत्रों में बेस तापमान औसत से विशेष रूप से बेहतर रहा है और ग्वालियर और सागर संभाग में बेस तापमान औसत से काफी बेहतर रहा है. राज्य में सबसे कम तापमान ग्वालियर में 7.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। ग्वालियर में पारा 0.5 डिग्री गिरकर 7.5 डिग्री पर आ गया है। इसके अलावा भोपाल में भी तापमान में 0.6 डिग्री की गिरावट देखी गई है।

और भी समझें: सेवानिवृत्त लोगों को लोक प्राधिकरण ने दिया बड़ा फायदा, मिलेगा फायदा, नहीं रुकेगा लाभ का पैमाना


ग्वालियर के अलावा खजुराहो और नौगांव में भी न्यूनतम तापमान 8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। दतिया का आधार तापमान 9.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि सीधी, गुना टीकमगढ़ नरसिंहपुर में भी तापमान में भारी गिरावट दर्ज की गई। मौसम विभाग के गेज के अनुसार, राज्य के सभी इलाकों में मौसम शुष्क रहेगा।


बहरहाल, छतरपुर, टीकमगढ़, निवाड़ी, बालाघाट, भिंड और मुरैना क्षेत्रों में छिटपुट स्थानों पर धुंध का अनुमान है। ऐसे ही एक मौसम विज्ञानी ने कहा है कि गुरुवार सुबह से मौसम में आए अंतर से शाम के समय तापमान में तेज गिरावट आ रही है. इंदौर में मंगलवार की शाम के मुकाबले तापमान में बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

मौसम विभाग ने आशंका जताई है कि आने वाले दो दिनों में वायरस और बढ़ेगा। मौसम विभाग का कहना है कि राजस्थान के कुछ स्थानों पर सर्दी तेजी से बढ़ेगी। इसके साथ ही इसमें भारी गिरावट आएगी। राजस्थान और मध्य प्रदेश के कई इलाकों में शीतलहर चलने की भी संभावना है। मौसम विभाग का कहना है कि उत्तर भारत में बहुत पहले हिमपात होने के कारण इसका असर मध्य प्रदेश और राजस्थान में देखने को मिलेगा, जिससे दिसंबर के आखिरी सात दिनों तक कड़ाके की ठंड पड़ सकती है.



कोई टिप्पणी नहीं:

News Duniya Neeraj Sharma Live Coverages

लोकप्रिय पोस्ट