Breaking

शुक्रवार 03 2021

ग्वालियर न्यूज़ :- सहारा इंडिया परिवार से ठगे गए गरीब निवेशकों के लिए आगे आया राष्ट्रीय एकता फाउंडेशन

 




ग्वालियर, मध्य प्रदेश


सहारा इंडिया परिवार के गरीब या पिदित निवेशको या एजेंटो के लिए आया एकता फाउंडेशन, ग्वालियर कलेक्टर या एसडीएम को सोपा गया ज्ञापन उन्होंने कहाँ की सहारा इंडिया परिवार से पीड़ित एजेंट अपने सबसे बुरे बक्त से गुजर रहे है ऐसे में न सरकार उनकी सुन रही हैं न ही पुलिस उनकी सुन रही हैं




ज्ञापन में बताया गया की हमारी संस्था एकता फाउंडेशन शाखा प्रखर एजुकेशन एंड सोशल वेलफेयर सोसाइटी बिगत 3 सालो से बंद हुई चिटफंड कंपनियों के निवेशक की धन की बापसी हेतु 8 प्रदेश 

के अलग अलग जिलो में जाकर माननिये प्रधानमंत्री, गृह मंत्री, केंद्रिये बित मंत्री, राष्ट्रिय मानव अधिकार आयोग आदि जिम्मेदार प्रशासनिक कार्यालो पे जाकर इन गरीब निवेशकों के भुगतान की बात रखी
सहारा इंडिया कंपनी सन् १९७८ से सरकारी अनुमति से चल रही है १९५६ की धारा १९५६ की धारा के तहत रेजिस्टर हैं  सन् २०१०-११ तक सभी का भुगतान सही तरीके से हो रहा था पर सन् २०१२ से जब सहारा के उपर सेबी लग गयी तो सहारा इंडिया के मालिक सुब्रत रॉय तिहाड़ जेल चले गए जिससे देखते हुए सहारा के एजेंटो और निवेशकों में डर का माहौल पैदा हो गया  और २०१८ तक आते आते तो भुगतान रुक ही गया और २०२१ में कंपनी ने सीधे १८ महीने का समय निवेशकों से माँग लिया






ज्ञापन में बताया गया की सहारा इंडिया के एजेंट्स इस समय बहुत बुरे दौर से गुजर रहे हैं उन्होंने खुद का तो पैसा जमा करा ही व उनके साथ उनके मिलने वालो का भी करबाया सहारा इंडिया कंपनी ने करीब 24000 करोड़ रुपये सेबी सहारा खाते में जमा कर रखा हैं

ज्ञापन में यह भी बताया गया की सहारा इंडिया के एजेंट इस समय मानसिक, बेरोजगारी, अपमान, सभी के डर से गुजर रहा हैं
ज्ञापन में कुछ बिंदु रखे गए जो इस प्रकार हैं :- 
1. कंपनी सही हो तो उसे जल्दी चालू कर दिया जाए ताकि सबको बापस रोजगार मिल जाए
2. सेबी से सभी निवेशकों का पैसा जल्दी वापस दिलवाया जाए ताकि निवेशकों द्वारा विवर्ता के साथ ऐसा      व्यवहार ना किया जाए
3.लाखों अभिकर्ता बेरोजगार हो गए हैं आर्थिक तंगी के कारण मानसिक तनाव में है इनको रोजगार  दिलवाने का कष्ट करें
4. जब तक पैसा नहीं दिलवाया जाता तब तक को पुलिस प्रशासन ने इन अभीकर्ताओं की सुरक्षा की निवेशकों जाए इनको भी अपना पक्ष रखने का मौका दिया जाए


 हमें पूर्ण विश्वास है कि आप महोदय उनकी पीड़ा को समझते हुए इनकी मदद जरूर करेंगे और इस कार्रवाई के बाद भी इसकी सुनवाई नहीं होती है तो इनके साथ होने वाली घटना के लिए
जिम्मेदार क्षेत्र के शासन प्रशासन जिम्मेदार होंगे उनकी दुर्दशा का कारण शासन प्रशासन की लापरवाही के चली कंपनी है यह लोग साफ छवि वाले गद्दार लोग हैं अतः महोदय इनके साथ उचित न्याय करने का कष्ट करें

2 टिप्‍पणियां:

Unknown ने कहा…

Abhi.tak.subatro.ray.giraftar.kyo.nahi.huaa

Unknown ने कहा…

8.sal.se.sebi.so.rahi.hai.subtroray..se.ghusr.lekar.niwesak.ko.kyo..paisa.naho.dila.rahi.hai

Contact Us Form

नाम

ईमेल *

संदेश *

लोकप्रिय पोस्ट