Breaking

शुक्रवार 31 2021

DPC आज करेगी आईपीएस अधिकारियों को आगे, 11 अधिकारी होंगे एडवांस

 डीपीसी : हालांकि 11 आईपीएस अधिकारियों में से चार अधिकारियों की प्रगति को लेकर अभी भी अनिश्चितता बनी हुई है.


भोपाल, डेस्क रिपोर्ट मध्य प्रदेश (एमपी) में आईपीएस अधिकारियों को शीघ्र पदोन्नति देने की तैयारी की जाए। इसके लिए आज सेवा में विभागीय उन्नति परिषद की महत्वपूर्ण बैठक होगी। ऐसे ही डीपीसी में 11 आईपीएस अधिकारियों की पदोन्नति एक अहम विकल्प माना जाएगा।


इस डीपीसी में 1997 के क्लंप आईपीएस मकरंद देउस्कर, गृह सचिव डी श्रीनिवास वर्मा, आईजी जबलपुर उमेश जोगा और प्रतिनिधिमंडल पर तैनात आईजी बीएसएफ सोलोमन यश को एक जनवरी 2022 से एडीजी के पद पर पदोन्नत किया जाएगा।

सूत्रों की माने तो मुख्य सचिव इकबाल सिंह की अध्यक्षता में बैठक होगी. इसके बावजूद 11 आईपीएस अधिकारियों में से चार अधिकारियों की पदोन्नति पर अभी भी अनिश्चितता बनी हुई है। सच कहूं तो राजधानी भोपाल में अपर पुलिस महानिदेशक का पद नहीं मिलने के कारण भोपाल पुलिस आयुक्त समेत चार अधिकारियों की पदोन्नति मुख्य मुद्दा बना हुआ है.


आंकड़ों के अनुसार अपर पुलिस महानिदेशक के 38 पद हैं। जिसमें 4 आईजी रैंक के अधिकारियों की पदोन्नति एकांत पद न खुलने से बाधक बन रही है। माना जाता है कि एक भी पद खाली न होने के कारण इन अधिकारियों को पदोन्नति न देने के लिए चुना गया था। जब पद रिक्त हो जायेंगे, तब उनकी उन्नति के आदेश दिये जायेंगे।
ऐसी अटकलें हैं कि डीपीसी में इस तरह के फैसले को मंजूरी मिल सकती है। चार अधिकारियों को पदोन्नति दी जा सकती है बाद में मार्च 2022 में एडीजी रैंक का पद खाली हो जाता है। डीपीसी में, 1997 के क्लंप के अलावा, 2004 क्लस्टर आईजी, दीर्घकालिक डीआईजी और 2009 समूह के अधिकारियों की पदोन्नति पर विकल्प लिया जाएगा। 2004 समूह के डीआईजी गौरव राजपूत, संजय कुमार, अतिरिक्त पुलिस आयुक्त और भोपाल ग्रामीण डीआईजी संजय तिवारी को आईजी के पद पर पदोन्नत किया जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

सहारा इंडिया की घोटाले पर एडवोकेट अजय टंडन के साथ LIVE | sahara india news |

लोकप्रिय पोस्ट